X Close
X

मप्र भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की ढुलमुल स्थिति से प्रदेश शासन में भ्रम, एक आंतरिक सर्वे से सरकार व संगठन में कई चौंकाने वाले तथ्य !


BJP-MP-1
समग्र समाचार सेवा भोपाल, 25 जनवरी। मध्यप्रदेश भाजपा का यह आंतरिक सर्वे भाजपा के दो वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने किया है। इसमें वर्ष 2000 और उसके पहले के 45 से 55 साल के उम्रदराज भाजपा नेताओं को शामिल किया गया।

सर्वें में दो वर्तमान सांसद, दो पूर्व सासंद, छह पूर्व विधायकों, दो पूर्व संगठन महामंत्रियों, चार पूर्व प्रदेश महामंत्रियों और प्रदेशभर के दर्जनभर पूर्व जिला अध्यक्षों के साथ एक हजार से ज्यादा वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से बातचीत की गई। सर्वे में भाजपा सरकार और संगठन की जमीनी हकीकत जानने के साथ भाजपा नेताओं से पूछा गया, कि यदि मध्यप्रदेश में सरकार और भाजपा संगठन के मुखिया का बदलाव किया जाता है, तो किस नेता को संगठन और सरकार की जिम्मेदारी देने से आगामी विधानसभा-2023 में भाजपा को क्या लाभ होगा? प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से भाजपा को कितनी सीटें मिलेंगी?

भाजपा की सरकार बन रही है या नहीं? इसके साथ सबसे खराब राय संगठन के मुखिया के तौर पर सुमेर सिंह सोलंकी को लेकर सामने आई है। भाजपा नेताओं का कहना था कि सुमेर सिंह सोलंकी की भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर ताजपोशी का मतलब होगा, भाजपा के सबसे बुरे दिनों की शुरूआत। भाजपा गर्त में चली जाएगी। हम बता दें कि, यह आंतरिक सर्वे भाजपा के पुराने एवं अनुभवी नेताओं से बातचीत और उनके संभावित अनुमानों पर आधारित है। सर्वे की सच्चाई का दावा नहीं। आइए हम जानते हैं कि सर्वे क्या कहता है – – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की जोड़ी बरकरार रहती है, तो भाजपा की सत्ता में वापसी की 32 प्रतिशत उम्मीद है। कुल सीटों में से 62 से 74 जीतने की स्थिति बन रही है।

-मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और श्री फग्गन सिंह कुलस्ते अथवा श्री गजेंद्र पटेल की जोड़ी बनती है, तो 30 प्रतिशत सीटें जीतने की उम्मीद। कुल 59 से 71 सीटें जीतने की स्थिति। -मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और हर्ष चौहान अथवा सुमेर सिंह सोलंकी (आदिवासी) की जोड़ी बनती है, तो 20 प्रतिशत सीटें जीतने की उम्मीद। कुल 40 से 46 सीटें जीतने की स्थिति- -मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और श्री कैलाश विजयवर्गीय अथवा श्री अजय प्रताप सिंह (सवर्ण समाज) की जोड़ी बनती है, तो 48 प्रतिशत सीटें जीतने की उम्मीद।

कुल 96 से 110 सीटें जीतने की स्थिति। -मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नरेंद्र सिंह तोमर (सवर्ण समाज) की जोड़ी बनती है, तो 50 प्रतिशत सीटें जीतने की उम्मीद। कुल 104 से 120 जीतने की स्थिति। मप्र में पांचवीं बार सरकार बनने के आसार दिखाई देते हैं। यह सारे अनुमान और सीटें जीतने की उम्मीद जनवरी की स्थिति में है। आदिवासी अध्यक्ष का फार्मूला संघ का इन पुराने भाजपा नेताओं का कहना है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) का एक समूह भाजपा में आदिवासी अध्यक्ष बनाकर पूरी भाजपा पर कब्जा करने की मंशा रखता है। इसलिए भाजपा में आदिवासी अध्यक्ष बनाने की बात तेजी से चलाई जा रही है। यह अलग बात है कि, भाजपा के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी संघ निष्ठ जनप्रतिनिधि हैं।

The post मप्र भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की ढुलमुल स्थिति से प्रदेश शासन में भ्रम, एक आंतरिक सर्वे से सरकार व संगठन में कई चौंकाने वाले तथ्य ! appeared first on Samagra Bharat News website. (SAMAGRA BHARAT)